sábado, 15 de agosto de 2015

१ योहन : MALVI



१ योहन 11उना जीवन देणे वाळा का बचन का बारामें हम लिखी र्‌या हे, जो जगत रचणा का पेलां से थो। उके हमने सुण्यो, अने उके हमने अपणी आंखहुंण से देख्यो, बरण उके ध्यान धरिने देख्यो अने हमने उके हात बी लगाड़्यो। 2उना जीवन को ज्ञान हमारे द्‍यो ग्यो, हमने उके देख्यो। हमने उकी गवई दई अने अबे हम तमारे उना अजर-अमर जीवन देणे वाळा की घोसणा करी र्‌या हे जो पिता का गेले थो अने हमारे जेको ज्ञान करायो ग्यो। 3जेके हमने देख्यो अने सुण्यो, अबे तमारे बी उकोज परबचन दई र्‌या हे ताके तम बी हमारा गेले बांटेदार बणी जाव। हमारी या बांटेदारी परमपिता अने उका बेटा ईसु मसीह का गेले रे। 4हम इनी बातहुंण के तमारे इकासरु लिखी र्‌या हे के हमारी खुसी पूरण हुई जाय। 5हमने ईसु मसीह से जो समिचार सुण्यो हे, उ यो हे, अने उकेज हम तमारे सुणई र्‌या हे: परमेसर उजाळो हे, अने उका माय रत्ति-भर बी इन्दारो हयनी। 6अगर हम कां के हम उका बांटेदार हे अने पाप का इन्‍दारा से भर्‌या जीवन के जीवां तो हम झुंटा बोली र्‌या हे अने सच्चई का पछड़े नी चली र्‌या हे। 7पण अगर हम अबे उजाळा माय अगड़े बड़ी र्‌या हे जसोके परमेसर उजाळाज माय हे - तो एक-दूसरा का बांटेदार हे। अने परमेसर का बेटा ईसु को लोई हमारे सगळा पापहुंण से सुद्द करी लाखे हे। 8पण अगर हम कां के हमारा माय कईं को पाप हयनी, तो हम खुद अपणे छळी र्‌या हे अने हमारा माय सच्चई हयनी। 9पण अगर हम अपणा पापहुंण के मानी लां तो हमारा पापहुंण के मांफ करवा अने हमारे सगळा पापहुंण से सुद्द करवा सरु परमेसर बिसास लायक हे क्योंके उ न्याव से भर्‌यो अने धरमी हे। 10अगर हम कां के हमने कईं को पाप नी कर्‌यो तो हम परमेसर के झुंटो ठेरावां हे अने उको बचन हमारा माय हयनी।

१ योहन 21म्हारा परमिला नाना-नानिहुंण, ई बातहुंण तमारे इकासरु लिखी र्‌यो हूं के तम पाप नी करो। पण अगर कईं को पाप करे तो परमेसर का सामे हमारा पापहुंण से बचाव करवा वाळो एक मददगार हे अने उ हे धरमी ईसु मसीह। 2उ खुद हमारा पापहुंण सरु बलिदान होयो, अने हमाराज सरु नी, पण आखा जगत का पापहुंण सरु बी। 3अगर हम परमेसर का हुकमहुंण को पाळण करां तो हम पक्को करी सकांगा के हमने सांची माय उके जाणी ल्यो हे। 4जो के हे, "हूं परमेसर के जाणी ग्यो हूं," अने उका हुकमहुंण के नी माने उ झुंटो हे, अने उका हिरदा माय सच्चई हयनी। 5पण अगर कईं को परमेसर का परबचनहुंण को पाळण करे तो उ परमेसर को परेम सिद्द करे। इकासेज हम जाणा के हम उका माय हे: 6जो यो के हे के उ परमेसर माय बण्यो हे, उके ईसु का जसो जीवन जिणो चइये। 7परमिलाहुंण, हूं तमारे कईं को नवो हुकम नी लिखी र्‌यो हूं, बल्के यो एक जूनो हुकम हे। यो उ सुब-समिचार हे जो तम सुरु माय सुणी चुक्या हो। 8पण हूं तमारे उज नवो हुकम लिखी र्‌यो हूं। जो सच्चई मसीह का जीवन अने तमारा जीवन से उजागर हुई हे, क्योंके इन्दारो मिटतो जई र्‌यो हे अने सांचो उजाळो चळकी र्‌यो हे। 9जो कईं को के हे के हूं उजाळा माय हूं, फेर बी अपणा भई-बेनहुंण से घिरणा करे, उ तो अबी तक इन्‍दाराज माय हे। 10जो कईं को अपणा भई-बेनहुंण से परेम करे, उ उजाळा माय बण्यो रे हे, उका जीवन माय असी कंई गलती हयनी जेकासे कईं को ठोकर खाय। 11पण जो कईं को अपणा भई-बेनहुंण से घिरणा करे, उ इन्‍दारा माय रे हे अने इन्‍दारा माय चले अने उ नी जाणे के कां जई र्‌यो हे, क्योंके इन्‍दारा ने उकी आंखहुंण आंदी करी लाखी हे। 12परमिला नाना-नानिहुंण, हूं तमारे इकासरु लिखी र्‌यो हूं, क्योंके ईसु मसीह की वजासे तमारा पाप मांफ होया हे। 13म्हारा मसीह माय बिसासी मां-बापहुंण, हूं तमारे इकासरु लिखी र्‌यो हूं, क्योंके तम मसीह के जाणो हो जो हमेस्या से हे। हे जुवानहुंण, हूं तमारे इकासरु लिखी र्‌यो हूं, क्योंके तमने उना दुस्ट पे जीत पई ली हे। 14हे नाना-नानिहुंण, हूं तमारे इकासरु लिखी र्‌यो हूं, तम पिता के जाणो हो। हे मसीह माय बिसासी मां-बापहुंण, हूं तमारे इकासरु लिखी र्‌यो हूं, क्योंके तम उके जाणो हो जो हमेस्या से हे। हे जुवानहुंण, हूं तमारे इकासरु लिखी र्‌यो हूं, क्योंके तम बलवान हो, अने परमेसर का बचन पे तमने हमेस्या ध्यान धर्‌यो हे अने तमने उना दुस्ट पे जीत पई ली हे। 15संसार से अने उनी चीजहुंण से जो संसार माय हे परेम मती राखो। अगर कईं को संसार से परेम राखे तो उका माय पिता को परेम हयनी। 16क्योंके इना संसार की हरेक चीज - याने काया की मन्‍सा, जो चीज देखां उके पावा की मन्‍सा, अने इना जीवन को घमण्ड - पिता आड़ी से हयनी, पण संसार आड़ी से हे। 17संसार अने उकी लालसाहुंण बी मिटती जई री हे, पण उ जो परमेसर की मरजी पूरण करे हे हमेस्या बण्यो रेगा। 18हे परमिला नाना-नानिहुंण, या आखरी घड़ी हे; अने जसो तमने सुण्यो थो के मसीह को बिरोदी अई र्‌यो हे। तो अबे नरा मसीह का बिरोदिहुंण परगटी ग्या हे। इकासेज हम जाणी ग्या हे के आखरी घड़ी अई पोंची हे। 19मसीह का बिरोदिहुंण हमाराज भित्तरे से हिटे हे, पण वी सांची माय हमारा हयनी, क्योंके अगर वी हमारा माय सइमें होता, तो हमारा गेले रेता। पण वी हमारे छोड़ी ग्या ताके वी यो दिखई सके के उणका माय कईं को बी सइमें हमारो हयनी। 20पण तमारो तो उना परम पवित्तर मसीह ने आतमा से अभिसेक करायो हे। इकासरु तम सगळी सच्चई के जाणो हो। 21म्हने तमारे इकासरु नी लिख्यो के तम सच्चई के नी जाणो, बरण इकासरु के उके तम जाणो हो, अने इकासरु बी, के तम जाणो हो के सच्चई से कईं को झुंटो नी हिटे। 22पण जो के हे के ईसु परमेसर आड़ी से अभिसेक कर्‌यो होयो संसार के बचावा नी आयो थो, उ झुंटो हे। असो मनख मसीह को बिरोदी हे। उ पिता अने बेटा दोई केज नकारे हे। 23उ जो बेटा के नकारे, उका कने पिता बी हयनी पण जो बेटा के माने उ पिता के बी माने हे। 24जां तक तमारो नातो हे, तमने जो सुरु से सुण्यो, उके अपणा माय बण्यो रेवा दो। जो कंई तमने सुरु से सुण्यो, अगर उ तमारा माय बण्यो रे, तो तम बी बेटा माय अने पिता माय बण्या रोगा। 25उने हमारे अजर-अमर जीवन देवा को करार कर्‌यो हे। 26हूं ई बातहुंण उना लोगहुंण का बारामें लिखी र्‌यो हूं, जो तमारे छळवा की कोसिस करी र्‌या हे। 27पण जां तक तमारी बात हे, मसीह ने तमारे उना पवित्तर आतमा से अभिसेक द्‌यो हे। अने तमारे इनी बात की जरुवत हयनी के कईं को तमारे सीखाड़े। बल्‍के तमारे तो उ आतमा जेकासे उना परम पवित्तर ने तमारो अभिसेक कर्‌यो हे उ अभिसेक तमारे सगळी बातहुंण सीखाड़े हे, अने रियाद राखो उज सांचो हे झुंट हयनी, अने जसोके उने तमारे सीखाड़्यो हे। वसेज तम मसीह माय बण्या री जो। 28तो हे नाना-नानिहुंण, उका माय बण्या रो, जेकासे के जदे उ परगटे तो हमारे हिम्मत रे अने उका आवा पे हमारे उका सामे लाजे नी मरनो पड़े। 29अगर तम जाणो हो के मसीह धरमी हे तो यो बी जाणता हो के हरेक जो धारमिकता पे आचरण करे हे, उ परमेसर कीज सन्तान हे।

१ योहन 31बिचार करिके देखो के, परमेसर ने हमार पे कितरो म्हान परेम दिखाड़्यो हे के हम उकी सन्तान केवई सकां अने सांची माय हम हे। इनी वजासे जगत का मनख हमारे नी जाणे क्योंके जगत ने परमेसर के बी नी जाण्यो। 2परमिला दोसहुंण, हम परमेसर की सन्तान हे, अने अबे तक यो परगट नी होयो के भविस माय हम कंई होवांगा। पण यो जाणा हे के जदे ईसु परगटेगा तो हम उका सरीका हुई जावांगां, क्योंके हम उके नठू वसोज देखांगा जसो उ हे। 3हरेक जो मसीह से असी आस राखे, उ खुद के वसोज पवित्तर करे हे, जसो के मसीह पवित्तर हे। 4हरेक जो पाप करे हे, उ परमेसर का नेम-बिधान को उलांगो करे हे; क्योंके नेम-बिधान को उलांगोज पाप हे। 5तम जाणोज हो के ईसु मसीह, लोगहुंण का पापहुंण के हरवा सरु परगट होयो। अने उने कदी पाप नी कर्‌यो। 6जो मसीह माय बण्यो रे हे, उ पाप नी करे हे; जो पाप करे हे, उने नी तो ईसु के देख्यो अने नी जाणे हे। 7हे बाळकहुंण, कईं को तमारे भरमई नी दे। जो धारमिकता को आचरण करे हे, उ धरमी हे नठू वसोज जसो ईसु धरमी हे। 8जो पाप करे हे उ सेतान आड़ी से हे, क्योंके सेतान सुरु सेज पाप करतो अई र्‌यो हे। परमेसर को बेटो इना मकसद से परगट्यो के उ सेतान का काम के खतम करे। 9जो परमेसर से पेदा होयो हे, उ पाप नी करे, क्योंके परमेसर को जीवतो सामरत उका माय बण्यो होयो हे; अने उ पाप नी करी सकतो, क्योंके उ परमेसर से पेदा होयो हे। 10इका से परमेसर अने सेतान की सन्तान जाण्या जाय हे। जो कईं को धारमिकता पे आचरण नी करे उ परमेसर से हयनी, अने उ बी हयनी जो अपणा भई-बेनहुंण से परेम नी करे। 11क्योंके जो समिचार हमने सुरु से सुण्यो, उ यो हे के हम एक-दूसरा से परेम करां। 12केन सरीका हयनी, जेको उना सेतान से नातो थो अने उने अपणा भई के मारी लाख्यो थो। उने केनी वजासे उकी हत्या करी? उने इकासरु कर्‌यो क्योंके उका करम तो दुस्टता का था अने उका भई का करम धरम का था। 13हे भई-बेनहुंण, अगर जगत का मनख हमार से घिरणा करे तो चोंकजो मती। 14हमारे मालम हे हम मोत से परे जीवन माय अई ग्या हे, क्योंके हम अपणा भई-बन्‍दहुंण से परेम राखां हे। जो परेम नी करे उ मर्‌यो सरीको बण्यो रे हे। 15हरेक मनख जो अपणा भई-बेनहुंण से घिरणा करे, उ हत्यारो हे अने तम जाणोज हो के कइंका हत्यारा माय अजर-अमर जीवन वास नी करे। 16हम परेम के इकासेज जाणा हे, के ईसु ने हमारा सरु अपणी जान दई दी। हमारे बी हमारा भई-बेनहुंण सरु अपणी जान दई देणी चइये। 17तो जेका कने इना जग को धन-दोलत हे, अने जो अपणा भई-बेनहुंण की जरुवत देखी के बी दया नी करे, तो उका माय परमेसर को परेम कसे बण्यो रेगा? 18हे बाळकहुंण, हमारो परेम सिरप सबद्हुंण अने बातहुंण तकिज नी राखां पण काम अने सच्चई से बी परेम राखां। 19इकासेज हम जाणी लांगा के हम सत का हे अने परमेसर का सामे अपणा हिरदा माय तसल्‍ली करी सकांगा। 20अने जेनी बात माय हमारो हिरदो हमारे कसुरवार ठेराय क्योंके परमेसर हमारा हिरदा से नरो मोटो हे अने उ सगळो कंई जाणे हे। 21हे परमिला दोसहुंण, अगर हमारो हिरदो हमारे दोषी नी ठेराय तो परमेसर का सामे हमारे हिम्मत होय हे। 22अने जो कंई हम मांगा हे, उकासे पांवां हे, क्योंके हम उका हुकमहुंण के पाळां, अने वीज काम करां जो परमेसर के भाय हे। 23उको हुकम यो के हम उका बेटा ईसु मसीह का नाम माय बिसास करां हे, अने हम एक दूसरा से बिलकुल वसोज परेम राखां जसोके मसीह ने हमारे हुकम द्‍यो हे। 24जो उका हुकमहुंण को पाळण करे, उ परमेसर माय बण्यो रे अने उका माय परमेसर को निवास रे हे। असतरा, उना आतमा से जेके परमेसर ने हमारे द्‍यो हे, हम यो जाणा के हमारा माय परमेसर निवास करे हे।

१ योहन 41हे परमिलाहुंण, हरेक परबचन देवा वाळा पे बिसास मती करो, पण उणकी आतमाहुंण के परखो के वी परमेसर आड़ी से हे के नी हे; क्योंके जग माय नरा झुंटा नबी अई ग्या हे। 2परमेसर का आतमा से बोलवा वाळा नबिहुंण के तम असे पेचाणी सकता हो: हरेक आतमा जो यो माने हे के, "ईसु मसीह मनख का रुप माय धरती पे आयो हे।" उ परमेसर आड़ी से हे। 3अने हरेक आतमा जो ईसु मसीह के नी माने उ परमेसर आड़ी से हयनी; याज तो मसीह-बिरोदी की आतमा हे, जेका बारामें तम सुणी चुक्या हो के उ आवा वाळो हे अने अबे बी जग माय हे। 4हे बाळकहुंण, तम परमेसर का हो अने तमने मसीह का बेरिहुंण पे जे पई ली हे; क्योंके उ आतमा जो तमारा माय रे हे, जग माय रेवा वाळा सेतान से म्हान हे। 5वी मसीह बिरोदी लोगहुंण जग का हे। इकासरु जग की बातहुंण करे, अने जग उणकी सुणे हे। 6पण हम परमेसर का हे; उ जो परमेसर के जाणे, हमारी बातहुंण सुणे; अने जो परमेसर से हयनी उ हमारी बातहुंण नी सुणे। इकासेज हम सच्चई की आतमा अने लोगहुंण के भेकाड़वा वाळा आतमा के पेचाणी सकां हे। 7हे परमिलाहुंण, हम माय-माय परेम करां, क्योंके परेम परमेसर से मिळे हे। हरेक जो परेम करे, परमेसर से पेदा होयो हे, अने परमेसर के जाणे हे। 8उ जो परेम नी करे परमेसर के नी जाणे, क्योंके परमेसर परेम हे। 9परमेसर ने अपणो परेम हमार पे असतरा परगट्यो: के उने अपणा एखला बेटा के इना जग माय मोकल्यो, इकासरु के हम उका बेटा की वजासे जीवन पई सकां। 10सांचो परेम इका माय हयनी के, हमने परेमसर से परेम कर्‌यो, बल्के इका माय हे के, एक असा बलिदान का रुप माय जो हमारा पापहुंण के धारण करी ले, परमेसर ने अपणा बेटा के मोकल्यो के हमारा सरु अपणो परेम दिखाड़े। 11हे परमिलाहुंण, अगर परमेसर ने हमार से असो परेम कर्‌यो तो हमारे बी एक-दूसरा से परेम करनों चइये। 12परमेसर के कदी कइंका ने नी देख्यो। पण अगर हम एक-दूसरा से परेम करां तो परमेसर हमारा माय बण्यो रे हे, अने उको परेम हमारा माय पूरण सिद्द हुई जाय हे। 13इकासेज हम जाणा हे के हम परमेसर माइज बण्या रां अने उ हमारा माय रे हे, क्योंके परमेसर ने अपणी आतमा को थोड़ोक हिस्सो हमारे द्‍यो हे। 14इके हमने देख्यो हे अने हम इका गवा हे के परम पिता ने जग का बचावा वाळा का रुप माय अपणा बेटा के मोकल्यो हे। 15अगर कईं को यो मानी ले हे के, "ईसु परमेसर को बेटो हे," तो परमेसर उका माय रे हे अने उ परमेसर माय रे हे। 16जो परेम परमेसर हमार से करे उके हम जाणी ग्या हे, अने उका पे बिसास करां हे। परमेसर परेम हे। इका से जो परेम माय बण्यो रे हे उ परमेसर माय बण्यो रे हे, अने परमेसर उका माय। 17इकासेज हमारा माय परेम सिद्द होय हे ताके न्याव का दन हिम्मत का साते हम बण्यां रां। क्योंके जसो ईसु मसीह हे, वसाज हम बी इना जग माय जी र्‌या हे। 18परेम माय डर नी रे जदके सिद्द परेम तो डर के भगाड़ी दे। क्योंके डर को नातो तो सजा से हे, तो जेका माय डर रे उको परेम सिद्द नी रे। 19हम इकासरु परेम करां हे क्योंके पेलां परमेसर ने हमार से परेम कर्‌यो। 20अगर कईं को के हे के, "हूं परमेसर से परेम करूं," अने अपणा भई-बेनहुंण से घिरणा करे तो उ झुंटो हे। क्योंके उने अपणा उना भई-बेनहुंण के जेके उने देख्यो परेम नी करे तो परमेसर के जेके उने देख्योज हयनी, उ परेम नी करी सकेगा। 21हमारे ईसु से यो हुकम मिळ्यो हे के जो परमेसर से परेम करे, उके अपणा भई-बेनहुंण से बी परेम करनों चइये।

१ योहन 51जो कईं को यो बिसास करे के ईसुज 'मसीह' हे उ परमेसर से जन्‍म्यो हे; अने जो पिता से परेम करे, उ बेटा से बी परेम करे हे। 2जदे हम परमेसर से परेम करां अने उका हुकमहुंण को पाळण करां तो हम जाणी जांवां के हम परमेसर की सन्‍तानहुंण से बी परेम करां हे। 3क्योंके परमेसर का हुकम मानता होया हम यो दिखाड़ां के, हम परमेसर से परेम करां हे। अने उको हुकम कठण नी हे। 4क्योंके जो कईं को परमेसर की सन्तान बणी जाय, उ जग पे जीत पई ले हे। अने वा जीत जो जग पे पई, उ हमारा बिसास हे। 5जग पे जीत पावा वाळो कुंण हे? सिरप उ, जेको बिसास हे के ईसु परमेसर को बेटो हे। 6यो ईसु मसीहज हे जो हमारा कने बपतिसमा लेवा वाळा पाणी अने कुरुस पे बिवा वाळा लोई का गेले परगट्यो - सिरप पाणी का गेले नी, बल्के पाणी अने लोई का गेले। अने या गवई हे के परमेसर आड़ी से अभिसेक मसीह सांचो मनख हे। अने उज आतमो हे जो उकी गवई दे हे क्योंके आतमोज सांचो हे। 7गवई देवा वाळा तीन हे - 8आतमा, पाणी, अने लोई - अने ई तीनी गवाहुंण माय-माय सेमत हे। 9जदे हम मनखहुंण की गवई मानी लां तो परमेसर की गवई तो घणी बड़ी के हे; क्योंके परमेसर की गवई या हे के उने अपणा बेटा का बारामें गवई दई। 10जो परमेसर का बेटा पे बिसास राखे, उ खुद माय या गवई राखे हे; उ जो परमेसर पे बिसास नी राखे उ उके झुंटो ठेराय हे। क्योंके उने उनी गवई पे बिसास नी कर्‌यो जो परमेसर ने अपणा बेटा का बारामें दई हे। 11वा गवई या हे के परेमसर ने हमारे अजर-अमर जीवन द्‍यो हे, अने यो जीवन उका बेटा माय हे। 12जेका कने बेटो हे उका कने जीवन हे; जेका कने परमेसर को बेटो हयनी उका कने उ जीवन बी हयनी। 13म्हने तमार से जो परमेसर का बेटा पे बिसास राखो हो, ई बातहुंण इकासरु लिखी हे के तम जाणो के अजर-अमर जीवन तमारो हे। 14परमेसर माय हमारी हिम्मत या हे के अगर हम उकी मरजी का मुजब उकासे बिणती करां तो उ हमारी बिणती सुणे हे। 15अने जदे हम यो जाणा हे के, जो कंई उकासे मांगा उ हमारी सुणे हे, तो यो बी जाणो हो के जो कंई हमने उकासे मांग्यो उ हमारे मिळी चुक्यो हे। 16अगर कईं को अपणा भई-बेनहुंण के असो पाप करता देखे जेको नतीजो हमेस्या की मोत हयनी, तो उके अपणा भई-बेनहुंण सरु पराथना करनी चइये, अने परमेसर उके जीवन देगा। हूं उणका बारामें बात करी र्‌यो हूं, जो असा पाप करवा माय लाग्या हे जो उणके हमेस्या की मोत तक नी पोंचाड़ेगा। असा पाप बी होय हे जेको नतीजो मोत हे। हूं तमार से असा पाप सरु पराथना करवा की नी कई र्‌यो हूं। 17सगळा बुरा करम पाप हे। पण असा पाप बी होय जेको नतीजो मोत हयनी। 18हम जाणा के जो कईं को परमेसर की सन्तान बणी ग्यो, उ पाप नी करे; बल्के परमेसर को बेटो उकी रक्सा करे हे। अने उ दुस्ट उको कइंनी बिगाड़ी सके। 19हम जाणा के हम परमेसर का हे। हालाके यो आखो जग उना दुस्ट का बस माय हे। 20पण हमारे मालम हे के परमेसर को बेटो अई ग्यो हे, अने उने हमारे समज दई हे के, हम उना परमेसर के जाणी लां जो सांचो हे। क्योंके हम उका बेटा ईसु मसीह माय बण्या होया हे। परमपिता सांचो परमेसर हे अने उज अजर-अमर जीवन हे। 21हे बाळकहुंण, अपणे खुद के झुंटा देवताहुंण से दूरा राखो।

http://www.bible.is/MUPNLL/1John/1/D

Nenhum comentário:

Postar um comentário